LATEST ARTICLES

प्रेम और स्त्री-मन : कुछ नई कवितायें

पारुल बंसल* क्षणिकाएं एक - प्रेम ने सुनी...

शिक्षा के ‘यूरेका क्षण’ – प्राथमिक शिक्षा पर लेखों की तीसरी...

राजेन्द्र भट्ट* प्राथमिक शिक्षा पर राजेन्द्र भट्ट का चिंतन-मनन जारी है। इस विषय पर उनके पिछले दो लेख आप...

Has the IAS Failed the Nation? Wrong But Necessary Question!

Dheep Joy Mampilly* This article deals with some issues relating to the Indian bureaucracy. The question “Has the IAS...

The myth of megapixels in mobile cameras

Manoj Pandey* A commoner’s guide to pixel-count in his mobile camera In 2022,...

सबको सम्मान से निशुल्क शिक्षा – प्राथमिक शिक्षा पर दूसरी किश्त

राजेन्द्र भट्ट* प्राथमिक शिक्षा पर राजेंद्र भट्ट के पिछले लेख ने कई महत्वपूर्ण प्रश्नों को उठाया और जवाब तलाशने...

एक और आदमीनामा और अन्य कवितायें

योगेन्द्र दत्त शर्मा* कभी जनकवि नज़ीर अकबराबादी ने 'आदमीनामा' लिखा था। उस परंपरा को आगे बढ़ाते हुए लगभग...

मिल कर बजाओ ढाक-ढोल….प्राथमिक शिक्षा पर एक नज़र

राजेन्द्र भट्ट* अपने देश में शिक्षा से जुड़े सवालों पर लिखना चाहता हूँ पर सीमाएं बहुत हैं। एक तो...

उत्तराखंड का पर्यावरण और विकास से जुड़े सवाल

आखिरी पन्ना आखिरी पन्ना उत्तरांचल पत्रिका के लिए लिखा जाने वाला एक नियमित स्तम्भ है। यह लेख पत्रिका के...

Quick weight loss, diabetes and cancer cure: the unseemly promises of...

Manoj Pandey* Fad diets promise the moon, but do they deliver? On WhatsApp, Facebook, YouTube and...