चलते-चलते

चलते-चलते

Satish Pandya* The First Lady of the male dominated Animal Kingdom nee Holy Cow nee Gau-Mata is about to arrive to her new abode. The entire house, decorated with streamers, buntings and balloons,...
Satish Pandya* Ooh, by whom! Who else than the charismatic Pied Piper of Hamelin; nah, of India!  And look at the audacity of “don’t you know who...
Satish Pandya*                                     Many things in our lifetime happen many times over, but Death happens only once, so why not die gracefully in style. Remember, the journey from birth to...
Manoj Pandey* Reports about a child suddenly narrating stories of persons and places she has not visited keep appearing in the media. Factual or not, these are lapped up by the tabloid press, television...
नितिन प्रधान नई दिल्ली। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 बनाने वाली समिति के अध्यक्ष पद्म विभूषण डॉ के कस्तूरीरंगन ने कहा है कि नई शिक्षा नीति लागू किए जाने के पीछे प्रमुख उद्देश्य यह है...
अजीत सिंह*       यह पचास के दशक की बात है। हमारे गांव में समृद्ध परिवारों के दो घर होते थे। ज़नाना और मर्दाना। ज़नाना हिस्से को ‘घर’ कहते थे और मर्दाना हिस्से को...
प्रियंवदा सहाय*  अंग्रेज़ी में एक कहावत है-शेयरिंग इज केयरिंग। यानी चीजों को साँझा कर किसी की देखभाल करना। छोटी-छोटी चीज़ें साँझा कर हम लोगों में ख़ुशियाँ बाँटने के साथ उनकी देखभाल भी कर...
-राजेंद्र भट्ट* अक्सर ऐसा होता है कि हम किसी  तथ्य के  अटपटेपन को  बार-बार देखते हुए भी उस पर गौर नहीं करते, हमारा  दिमाग  उस  विचित्रता को, क्षण भर ठहर कर, पकड़ नहीं...
मनोज पांडे*  इस पोस्ट में मैं आपस में जुड़ी तीन बातों पर चर्चा करूंगा: ब्लॉगिंग है क्या, इसके क्या फायदे हैं और सरल तरीके से ब्लॉग बनाया कैसे जाए.  तो चलिए शुरू...
Sudhirendar Sharma* Many strange situations have confirmed that life is indeed a paradox, rather a bundle of paradoxes. Like most of you, there was often little on offer when I pushed myself hard but was...

RECENT POSTS