राजकाज

राजकाज

विजय प्रताप* आज सुबह सवेरे श्री जार्ज फर्नांडीस के न रहने से भारतीय राजनीति में समाजवादी संगठन की राष्ट्रीय पहचान का एक दौर पूरा हुआ। अब आने वाली पीढ़ी 1934 में बनी कांग्रेस सोशलिस्ट पार्टी की विरासत...
प्रियदर्शी दत्ता* विद्युतीकरण का आधे से भी ज़्यादा काम बाकी है जबकि प्रचार कुछ ऐसा है कि मानो ज़रा सा काम बचा है भारतीय रेलवे ने अपने सम्पूर्ण परिपथ...
नवनीत चतुर्वेदी 12 जनवरी को आखिरकार उत्तरप्रदेश में बहुप्रतीक्षित समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी यानि  सपा-बसपा गठबंधन का आधिकारिक ऐलान हो ही गया। उत्तरप्रदेश लोकसभा चुनावों की दृष्टि से सबसे महत्वपूर्ण राज्य है...
राजेंद्र भट्ट* मीडिया यानि जो संवाद कराए, अकेलेपन को तोड़े और इकतरफा सोच ओर पूर्वाग्रह से बाहर निकाल कर एक समग्र, सुकून देने वाली समझ बनाए। लेकिन हमारे दौर का जो ‘सोशल’ और...
Mudrarakshasa Prime Minister Modi is perhaps the first Chief Minister to have a real stint as the Prime Minister of India. Devegowda  and VP Singh too were very successful Chief Ministers before becoming Prime...
नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व भी एक सीमा से आगे उनके फैसलों में दखल देने की स्थिति में नहीं होता था। मुख्यमंत्री के रूप में उनके राजधर्म न निभाने पर...
Archana Datta* As the world reels under the devastating consequences of the COVID-19 pandemic, the Global Gender Gap Report, 2021, revealed that it created ‘new barriers and asymmetry between men and women…even...
जयशंकर गुप्त* नियति बहुत ही क्रूर और निष्ठुर होती है. उसे क्या पता कि देश और समाज को किसकी कितनी जरूरत है. उसने बीते दो दिनों के भीतर जन सरोकारों से जुड़े सामाजिक...
राजकेश्वर सिंह* भारत के मामले में इस सच्चाई से सभी वाकिफ हैं कि देश में ज़्यादा बेहतर सभी चिकित्सा सुविधाएं महानगरों और शहरों में ही हैं। ग्रामीण इलाकों में चिकित्सा सुविधाओं का शुरू...
सिद्धार्थ जगन्‍नाथ जोशी* समाज और राज्य – ये दो तंत्र ऐसे हैं जो प्रकृति के विरुद्ध सर्वाधिक अराजकता पैदा करते हैं। सुनने में अटपटा लगेगा, लेकिन सबसे सफल अराजक तंत्र ही संरक्षित रह...

RECENT POSTS