अरविंद सक्सेना* हिन्दी रूपांतर: राजेंद्र भट्ट**               “तुम्हें एक जंतर देता हूँ। जब भी तुम्हें संदेह हो या तुम्हारा अहम तुम पर हावी होने लगे, तो यह कसौटी आज़माओ:...
सुदीप ठाकुर* कल टिवीटर पर अचानक ये खबर दिखने लगी कि भारत के उच्चतम न्यायालय ने वन्य जीवों के संरक्षण में लगे संगठनों और कुछ पूर्व वनाधिकारियों की एक याचिका पर फैसला सुनाया और...
राजेन्द्र भट्ट नक्कारखाने में तूती – 6 लंबे अंतराल तक किसी अनिष्ट की आशंका जैसी जड़ता-हताशा मन पर छाई थी। मित्र लोगों की प्रेरणा, दिलासों और फिर थोड़ा चिढ़े हुए उलाहनों...
Thiruvalluvar is India’s especially revered and loved poet and philosopher for his epic collection of verse, the Tirukurral or simply, Kural - an independent couplet in which the first line consists of four words and the second...
There is a strategy of keep lobbing grenades into the fault lines of society without any evidence and that will crowd out the actual news and will keep the people (experts and journalists included) busy with...
डॉ गोपाल कृष्‍ण* इन दिनों स्विट्ज़रलैंड की राजधानी जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र की परिसंकटमय जहरीले रसायनों के विषय पर एक सम्मलेन चल रहा है। यह सम्मलेन 29 अप्रैल को शुरू हुआ और 10 मई को समाप्त होगा।...
पुण्यतिथि 30 जनवरी पर विशेष लेख पराग मांदले* बहुत साल पहले कुंभ मेले के दौरान एक साधु से मैंने प्रश्न किया था कि सनातन तो परब्रह्म परमेश्वर को निर्गुण-निराकार...
वागीश कुमार झा* सूचना तंत्र का संजाल मानव जीवन के हर पहलू को आच्छादित कर चुका है. दशकों पूर्व इंटरनेट ने इसको एक नई उड़ान दी. अब आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस (AI – जिसे हिन्दी में...
Mudrarakshasa This piece is not mocking liberalism for its arrogance. Attempt here is to bring to the focus some of the ossified points that became readily available to right-wing political entrepreneurs. They hacked...
वागीश कुमार झा* सूचना तंत्र का संजाल मानव जीवन के हर पहलू को आच्छादित कर चुका है. दशकों पूर्व इंटरनेट ने इसको एक नई उड़ान दी. अब आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस (AI – जिसे हिन्दी...

RECENT POSTS