Cough syrup: addiction, side-effects, deaths! कफ़ सिरप का काला सच

इस वेब पत्रिका पर नियमित आने वाले पाठक मनोज पांडे* के नाम से परिचित होंगे जिन्होंने UNDER THE LENS केटेगरी के तहत पचास से भी ज़्यादा लेख लिख कर अलग-अलग विषयों की गहन पड़ताल की है। अंग्रेज़ी में लिखे गए इन लेखों के साथ-साथ अभी हाल ही में उन्होंने अपना यूट्यूब चैनल @kitnasachkitnajhooth हिंदी में शुरू किया है। इस चैनल पर उन्होंने जनोपयोगी विषयों पर वीडियो बनाने  की शुरुआत की है जिनमें वह सही और गलत की पड़ताल करते हैं। उनका पिछला वीडियो हमने कुछ रोज़ पहले इस वेब पत्रिका में दिया था जिसे आप यहाँ देख सकते हैं। आज हम उनके अगले वीडियो के बारे में बता रहे हैं जो कफ़ सिरप के बारे में है।  

मनोज पांडे*

कफ या खांसी के लिए सैकड़ों तरह के मीठे सिरप दवा की दुकानों में भरे रहते हैं. दवा बेचने वाले इन्हें धड़ल्ले से बेचते हैं. डॉक्टर भी इन्हे बिना झिझक prescribe कर देते हैं.

भारत में बने कफ सिरप से कई देशों में बच्चों को बीमारियां हो जाने, यहां तक कि मौत की खबरें पिछले कुछ सालों से मीडिया में दिखती रहती हैं. ऐसे में इनपर आँख मूंदकर भरोसा करना ठीक नहीं है.

क्या कहती है सरकारी रिपोर्ट? क्या कहता है डबल्यूएचओ यानि विश्व स्वास्थ्य संगठन इस बारे में? ऐसा क्या मिला होता है कफ सिरप में जिससे स्वास्थ्य को नुकसान हो सकते हैं? क्या कफ सिरप से नशा भी हो जाता है?

इन सब पर चर्चा नीचे के विडियो में। अगर नीचे विडियो नहीं दिख रहा या उसे क्लिक करके विडियो नहीं खुल रहा तो इस लिंक पर जाएं: dangers of cough syrup

*मनोज पाण्डे पूर्व सिविल सेवा अधिकारी हैं। उनका ब्लॉग आप https://manoj-pandey.blogspot.com पर देख सकते हैं। इस वेब पत्रिका में उनके लेख UNDER THE LENS केटेगरी के तहत देख सकते हैं. 

Disclaimer: The views expressed in this article are the personal opinion of the author and do not reflect the views of raagdelhi.com, which does not assume any responsibility for the same.

1 COMMENT

  1. Very useful and informative. We seldom use cought syrup at home for cough, we prefer ayurvedic kadha instead. However, will be more cautious in future. Thank you Sir.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here